Crime

कौन है काजल झा? दिल्ली के पॉश इलाके में जिसका 100 करोड़ का बंगला पुलिस ने किया सील

NCR के बड़े स्क्रैप माफिया से करोड़पति बनने वाले रवि काना और उसकी गर्लफ्रेंड की अब तक 200 करोड़ रुपए की संपत्ति को पुलिस ने सील कर चुकी है. दिल्ली के न्यू फ्रेंडस कॉलोनी में एक आलीशान कोठी रवि काना की ‘गर्लफ्रेंड’ काजल झा की भी है. काजल की 100 करोड़ की कोठी पुलिस ने सील कर दी है. इस मामले के उजागर होने के बाद अब लोग जानना चाहते हैं कि आखिर काजल है कौन.

बात दें कि रवि काना की गर्लफ्रेंड काजल झा नौकरी की तलाश में उसके साथ संपर्क में आई थी. जल्द ही वह उसके गिरोह का हिस्सा बन गई. इतना ही नहीं वह रवि काना गैंग की सबसे अहम सदस्य बन गई. काजल झा रवि काना की सभी बेनामी संपत्तियों का हिसाब-किताब संभालती थी. रवि काना ने उसे साउथ दिल्ली की पॉश न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में करीब 100 करोड़ का तीन मंजिला बंगला गिफ्ट किया. पुलिस ने बुधवार को उसकी प्रॉपर्टी पर छापेमारी की, इस दौरान गिरफ्तारी से बचने के लिए काजल झा और उसके सहयोगी वहां से भाग गए. हालांकि पुलिस ने बाद में बंगले को सील कर दिया. पुलिस के मुताबिक, रवि काना का असली नाम रवींद्र नागर है. वह 16 सदस्यीय गिरोह चलाता है. वह सरिया और कबाड़ की अवैध खरीद और बिक्री करता है. स्क्रैप डीलर के तौर पर रवि काना ने कथित तौर पर दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में व्यवसाइयों से जबरन वसूली और कबाड़ के सामान को अवैध रूप से हासिल किया. इसे बेचने के लिए एक गिरोह बनाया और करोड़पति बन बैठा.रवि काना ग्रेटर नोएडा के एक अन्य गैंगस्टर हरेंद्र प्रधान का भाई है, हरेंद्र प्रधान को साल 2014 में उसके एक विरोधी गिरोह ने मार दिया था. उसकी मौत के बाद रवि काना ने गिरोह की बागडोर संभाल ली. जान से मारने की धमकी मिलने के बाद उसे पुलिस सुरक्षा भी मुहैया कराई गई थी. एक वायरल वीडियो में, काना को कई पुलिसकर्मियों के साथ एक शादी समारोह में जाते देखा जा सकता है.ग्रेटर नोएडा के सीनियर पुलिस अधिकारी साद मिया खान ने एनडीटीवी को बताया कि गैंगस्टर और उसके सहयोगियों के खिलाफ अपहरण और चोरी के आरोप समेत अब तक 11 मामले दर्ज किए गए हैं. गिरोह के छह सदस्यों को अब तक गिरफ्तार किया जा चुका है. ग्रेटर नोएडा और नोएडा में गिरोह द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले कई स्क्रैप गोदामों पर छापा मारकर उनको सील कर दिया गया है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button